Anurag-Thakur-Mh1-Mhone

इंटरव्यू में बोले अनुराग, BCCI को आरटीआई दायरे में लाने की जरूरत नहीं

बीसीसीआई अध्यक्ष एवं लेफ्टिनेंट अनुराग ठाकुर बोर्ड में अपने कार्यकाल को टी- 20 मैच की तरह मानते हैं। फैसला लिया और तुरंत परिणाम दिखेगा। उनका कहना है कि वह सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करते हैं और लोढा कमेटी की सिफारिशें लागू की जाएंगी।

उनका मानना है कि ऐसा कोई कारण नजर नहीं आता कि कि बीसीसीआई को आरटीआई के दायरे में लाया जाए। क्रिकेट और राजनीति को लेकर अनुराग ठाकुर ने अमर उजाला के संवाददाता सुनील चड्ढा से बातचीत की। पेश हैं बातचीत के अंश

जवाब : बीसीसीआई देश के कोने-कोने में क्रिकेट को बढ़ावा देने में बड़ी भूमिका निभा रहा है। इस बात से सहमत हूं कि किसी भी समिति और संगठन में सुधार की गुंजाइश रहती है। ऐसे में बीसीसीआई भी इससे अलग नहीं है। हाल ही में हमने क्रिकेट में विभिन्न सुधार कर पहल शुरू की है। बीसीसीआई ने जवाबदेह और पारदर्शी दृष्टिकोण अपनाया है। इसलिए मुझे ऐसा कोई कारण नहीं लगता है कि बीसीसीआई को आरटीआई के अधीन लाया जाए।

Share With:
Rate This Article