Kashmir-MH1-Mhone

शहीद प्रमोद का शव जामताड़ा पहुंचा, अंतिम दर्शन को जुटी भीड़

श्रीनगर में अातंकवादियों के हमले में शहीद सीअारपीएफ कमाडेंट प्रमोद कुमार का शव जामताड़ा जिले के मिहिजाम स्थित पालबागान स्थित उनके अावास मंगलवार की सुबह लाया गया। शव पहुंचते ही परिजनों के चित्कार से पूरा गांव गमगीन हो गया। सीअारपीएफ कमांडेंट प्रमोद कुमार श्रीनगर में शहीद हो गए थे। सोमवार को ही उनके शहादत होने की सूचना परिजनों को मिल गई थी। सूचना मिलने के बाद से ही उनकी मां कुसुम देवी, पिता प्रभु मिस्त्री, पत्नी नेहा त्रिपाठी अौर अाठ साल की बेटी का रो-रोकर बुरा हाल है।

पिता प्रभु मिस्त्री ने रोते हुए कहा कि प्रमोद उनका इकलौता पुत्र था। घर की सारी जिम्मेवारी उसपर ही थी। उनके चले जाने से पूरा परिवार टूट गया है। शहीद प्रमोद का शव पालबागान स्थित उनके अावास पहुंचते ही अंतिम दर्शन के लिए लोगों की भीड़ जुटने लगी। परिजनों के अलावा अासपास के गांव के लोगों की भी अांखें नम थी। उनका अंतिम संस्कार जामताड़ा जिला के चित्तरंजन के बर्निग घाट पर किया जाएगा।

Share With:
Rate This Article