Jammu-Mh1-Mhone

कश्मीर में मोबाइल सेवाएं ठप, 10 जिलों में कर्फ्यू जारी

कश्मीर में एहतियाती तौर पर अधिकारियों ने सरकारी बीएसएनएल की पोस्टपेड सुविधा को छोड़कर बाकी सभी मोबाइल टेलीफोन सेवाओं पर आज प्रतिबंध लगा दिया। ऐसा पिछले सप्ताह शुक्रवार की नमाज के बाद हुई हिंसक झड़पों को देखते हुए किया गया है।

वहीं, सुरक्षा के मद्देनजर प्रशासन ने शुक्रवार को कर्फ्यू और प्रतिबंध लगाया हुआ है। पुलिस का कहना है कि घाटी में हंदवाड़ा, कुपवाड़ा, सोपोर, त्रेहगाम के अलावा सभी 10 जिलों में कर्फ्यू जारी रहेगा।

अलगाववादियों ने 18 अगस्त तक बंद का आह्वान किया है लेकिन लोगों को कुछ निश्चित दिनों में शाम छह बजे से सुबह छह बजे तक सामान्य गतिविधियां जारी रखने को कहा है। सभी वरिष्ठ अलगाववादी नेताओं को पिछले 35 दिनों से हिरासत में रखा गया है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, पूरी घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को ठप कर दिया गया है। केवल बीएसएनएल की पोस्टपेड सेवा काम कर रही है।

उन्होंने बताया कि कानून और व्यवस्था बनाए रखने और अफवाह से बचने के लिए मध्यरात्रि में पूरी घाटी में सेवा को बंद कर दिया गया।

पिछले शुक्रवार को सामूहिक नमाज के बाद घाटी के कई स्थानों पर प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच हिंसक झड़पें देखने को मिली थीं। इन झड़पों में तीन लोगों की मौत हो गयी थी और सैकड़ों अन्य घायल हो गये थे।

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में आठ जुलाई को एक मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी की मौत के बाद भड़की हिंसा के चलते 15 जुलाई को घाटी में बीएसएनएल की पोस्टपेड सेवा को छोड़कर सभी मोबाइल टेलीफोन सेवाओं को ठप कर दिया गया था।

अधिकारियों ने नौ जुलाई को पूरी घाटी में मोबाइल इंटरनेट सुविधा बंद कर दी थी। 26 जुलाई को पोस्टपेड सेवाएं बहाल कर दी गई थीं और इसके एक दिन बाद प्रीपेड नंबरों पर इनकमिंग सुविधा शुरू कर दी गयी थी। लेकिन प्रीपेड पर आउटगोर्इंग सुविधा बंद ही रही। आज लगातार 35 वें दिन मोबाइल इंटरनेट सुविधा ठप है।

Share With:
Rate This Article