Flood Situation In Madhya Pradesh MP के 7 जिलों में हाई अलर्ट : आंध्र प्रदेश के गोदावरी में बाढ़, 28 गांवों से संपर्क कटा

चरणतीर्थ पुल बहने से विदिशा-अशोकनगर स्टेट हाईवे बंद।

नई दिल्ली/भोपाल. मध्य प्रदेश के कई जिलों में लगातार बारिश की वजह से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। एमपी के कई इलाकों में मंगलवार रात को भी बारिश हो हुई। भोपाल में बारिश से बड़ा तालाब लबालब हो गया और भदभदा डैम के गेट खोलने पड़े। जबकि विदिशा में बेतवा के उफान से चरणतीर्थ पुल बह गया। एक जून से अब तक देशभर में सामान्य से 4 पर्सेंट ज्यादा बारिश हुई है। एमपी के अलावा आंध्र प्रदेश, गुजरात और असम में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं। गोदावरी के कैचमेंट एरिया में भारी बारिश की वजह से गोदावरी का वाटर लेवल लगातार बढ़ रहा है। इस वजह से ईस्ट गोदावरी जिले के 28 गांवों का संपर्क पूरी तरह कट गया है। 7 बड़े अपडेट्स में पढ़ें देशभर में मानसून का हाल और मध्य प्रदेश में अभी कैसे हैं हालात…
– मध्य प्रदेश के विदिशा जिले के कुरवाई ब्लॉक में बाइक सवार भुजबल नाले के बहाव में बह गया। हालांकि, उसके साथ बैठी महिला को बचा लिया गया।
– सीहोर के इछावर में 3 घंटे में 8 इंच और आष्टा में 5 घंटे में 3 इंच बारिश हुई। रायसेन जिले में बारना डैम के 8 गेट एक बार फिर खोले गए।
– उधर, जयपुर-जबलपुर नेशनल हाईवे सोमवार-मंगलवार की रात से बंद है। बारिश की वजह से भोपाल, होशंगाबाद व इटारसी के स्कूलों में छुट्‌टी कर दी गई है।
#1. आंध्र प्रदेश : गोदावरी के कैचमेंट में बारिश से बाढ़
– गोदावरी में बाढ़ की वजह से ईस्ट गोदावरी जिले के 28 गांवों का संपर्क कट गया है।
– यह बाढ़ महाराष्ट्र में गोदावरी के कैचमेंट में भारी बारिश की वजह से आई है।
– बता दें कि भाद्रांचलम में सोमवार को जहां गोदावरी में 49.5 फीट पानी था, मंगलवार को यह बढ़कर 53 फीट हो गया।
– नदी के वाटर लेवल का बढ़ना मंगलवार रात को भी जारी रहा।
#2. बिहार में जहां बाढ़ के आसार थे वहां सूखे जैसे हालात
– उधर, बिहार के 26 जिलों में अब तक कम बारिश की वजह से सूखे जैसे हालात हैं।
– इनमें कई इलाके ऐसे भी हैं जहां बाढ़ की आशंका थी। बिहार में 1 जून से 11 जुलाई के बीच 290 मिमी की तुलना में महज 232 मिमी बारिश हुई है।
– बता दें कि आईएमडी ने शिवहर और सीतामढ़ी जिले में बाढ़ की आशंका जताई थी, लेकिन यहां अब तक सामान्य से क्रमश: माइनस 82 और माइनस 61 पर्सेंट बारिश हुई है।
#3. महाराष्ट्र : वैनगंगा में नाव डूबी, दो लापता
– चंद्रपुर जिले के 12 लोग वैनगंगा नदी पार करते समय नाव डूबने से बह गए। इनमें से 10 लोगों की जान बचा ली गई है। वहीं, दो लोग लापता हैं।
– पिछले तीन साल से सूखे का सामना कर रहे राज्य में इस बार जुलाई माह में आैसत से ज्यादा बारिश दर्ज की गई। सूखे से सर्वाधिक प्रभावित मराठवाड़ा भी तरबतर हो गया।
– इस महीने राज्य में 243 मिलीमीटर बरसात रिकॉर्ड की गई है।
– महाराष्ट्र के गड़चिरोली में सर्वाधिक 172 मिमी बारिश दर्ज की गई है। यह पूरे राज्य में सबसे ज्यादा है।
#4. राजस्थान: 12 दिन में छलके 15 बांध, 6 समय से पहले लबालब
– राजस्थान में पिछले 12 दिनों के भीतर 15 बांध छलक उठे।
– 30 जून तक 822 बांधों में से एक में भी पूरी तरह पानी भरा हुआ नहीं था।
– सामान्य से ज्यादा पानी आने से 6 बांध समय से पहले ही लबालब हो गए हैं।
#5. हरियाणा : कई इलाकों में अच्छी बारिश, सड़क पर आधा फीट पानी
– पानीपत, जींद, गुड़गांव और सोनीपत जैसे इलाकों में मंगलवार को अच्छी बारिश हुई।
– पानीपत में सड़क पर करीब आधा फीट तक पानी जमा हो गया।
#6. दिल्ली : बुधवार को हो सकती है बारिश
दिल्ली में अभी मानसून की अच्छी बारिश नहीं हुई है। मंगलवार को दिन में मामूली बूंदा-बादी हुई।
– वेदर डिपार्टमेंट के मुताबिक, बुधवार को दिल्ली में अच्छी बारिश की संभावना है।
#7. मध्य प्रदेश : 7 जिलों में हाई अलर्ट, भोपाल में टूट सकता है 30 सालों का रिकॉर्ड
– वेदर डिपार्टमेंट ने भोपाल, होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, खंडवा, उज्जैन एवं सीहोर जिलों में भारी बारिश के चलते हाई अलर्ट जारी किया है।
– इस बार बारिश की यही रफ्तार रही तो महीने भर में भोपाल में सबसे ज्यादा 103.14 सेमी का 30 साल पुराना रिकाॅर्ड टूट सकता है।
– एक हफ्ते से हो रही भारी बारिश के कारण नर्मदा, ताप्ती सहित सभी बड़ी-छोटी नदियों में उफान कायम रहने से सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है।
– होशंगाबाद में कई निचली बस्तियों में पानी भर गया।
– आसमानी बिजली गिरने से एमपी के विदिशा के गूजरखेड़ी में दो भाइयों की मौत हो गई। राजगढ़ जिले के ब्यावरा में भी एक वृद्धा की मौत हो गई।
– बारिश से अब तक 18 हजार हेक्टेयर से अधिक फसल चौपट हो गई हैं। सबसे अधिक नुकसान रायसेन जिले में हुआ है।
मध्य प्रदेश में मंगलवार शाम तक हुई बारिश (सेमी में)
उज्जैन 2.40
बैतूल 2.50
शाजापुर 6.00
भोपाल 4.70
खरगोन 4.20
खंडवा 8.00
इंदौर 5.30
होशंगाबाद 7.40
राजगढ़ 3.30
अगले 24 घंटों में ऐसा रहेगा मौसम
पूर्वानुमान कहां-कहां स्थान (डिविजन/जिले)
बारिश या गरज- चमक के साथ बौछारें पड़ने के आसार ज्यादातर स्थानों पर इंदौर, उज्जैन अौर होशंगाबाद संभाग और भोपाल, सीहोर रायसेन, छिंदवाड़ा, सिवनी, नरसिंहपुर और बालाघाट जिले।
वॉर्निंग कहां स्थान (डिविजन/जिले)
भारी से भारी बारिश की संभावना कहीं-कहीं होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, खंडवा,उज्जैन, देवास, सीहोर, धार और रतलाम जिले।
भारी बारिश की संभावना कुछ स्थानों पर भोपाल, इंदौर, बुरहानपुर, खरगौन, बड़वानी, झाबुआ, अलिराजपुर, शाजापुर, छिंदवाड़ा, मंडला, सिवनी, नरसिंहपुर, रायसेन
Share With:
Rate This Article