शिवसेना बोली- दाऊद नहीं पहले जाकिर नाइक को पकड़ो, देश लौटने से डरा धर्मगुरु

1 of 6

मुस्लिम धर्मगुरु जाकिर नाइक के मुंबई लौटने पर सस्पेंस खड़ा हो गया है।
मुंबई. मुस्लिम धर्मगुरु जाकिर नाइक के मुंबई लौटने पर सस्पेंस खड़ा हो गया है। बताया जा रहा है कि जाकिर से मुंबई पुलिस ने पूछताछ की तैयारी कर ली है। वह अपनी वापसी टाल चुका है। इसी बीच शिवसेना ने कहा- “मोदी सरकार दाउद इब्राहिम की जगह जाकिर को वापस लाने पर ध्यान दे। क्योंकि यह घर में छिपा दुश्मन है।” बता दें कि ढाका में हमला करने वाले आतंकी जाकिर से इंस्पायर थे। इसके बाद से वह विवादों में है। बांग्लादेश ने उसके पीस टीवी के टेलिकास्ट को बैन कर दिया है। वहीं, भारत में उसके खिलाफ 9 टीमें जांच कर रही हैं। क्या कहना है शिवसेना का…
– शिवसेना ने सोमवार को अपने मुख्य पत्र सामना में लिखा- “केंद्र सरकार को दाउद इब्राहिम और टाइगर मेमन की जगह जाकिर को पकड़ने पर ध्यान देना चाहिए।”
– “यह घर में छिपा दुश्मन है… इसे अरेस्ट करें और अजमल कसाब ( 26/11 का पाकिस्तानी टेररिस्ट, जिसे बाद में फांसी दी गई) को जिस सेल (कोठरी) में रखा था उसमें ही रखें।”
– ” जिस तरह पाकिस्तान में रह रहे अजहर मसूद जैसे कट्टरवादी खुलेआम जहर उगलते है, उसी तरह जाकिर जैसे लोग शांति के नाम पर अपने सोशल वर्क के जरिए अपने इरादों को अंजाम देते हैं।”
– “नाइक पिछले कई साल से देश विरोधियों को शह दे रहे हैं। ढाका हमले के बाद उनके शांति के मैसेज की असलियत उजागर हो गई है।’
जाकिर ने दी सफाई
– ”मैं आतंकवाद का समर्थन नहीं करता हूं। किसी भी तरह की हिंसा को सपोर्ट नहीं करता।”
– ”मेरा मीडिया ट्रायल हो रहा है।”
– ”एजेंसियों ने मुझसे संपर्क नहीं किया। जांच में सहयोग करूंगा।”
– मुंबई में जाकिर नाइक 12 जुलाई को प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले थे लेकिन उन्होंने इसे अब कैंसिल कर दिया है।
– इधर, मुंबई पुलिस जाकिर नाइक को पूछताछ के लिए नोटिस भेजने की तैयारी में है।
नाइक के एनजीओ पर क्या हैं आरोप…
– जांच के दायरे में आईआरएफ पर लगे जो अन्य आरोप हैं, उनमें विदेशों से मिले चंदे का पॉलिटिकल यूज, धर्मांतरण के लिए इंस्पायर्ड करने और टेरेरिज्म फैलाने के लिए यूज किया गया या नहीं, शामिल हैं।
– एक अफसर की माने तो होम मिनिस्ट्री ने आईआरएफ को विदेशों से मिलने वाले धन के सोर्सेज का भी पता लगाने का ऑर्डर भी दे दिया है।
– केंद्र के अलावा महाराष्ट्र सरकार ने भी 50 साल के इस इस्लामी उपदेशक की स्पीच की सीडी की जांच के ऑर्डर दिए हैं।
– इस्लामिक रिसर्च फांउडेशन के ऑफिस और जाकिर के घर पुलिस टीम पहुंच गई है। जाकिर के घर की सिक्युरिटी भी बढ़ाई गई है।
9 टीमें कर रही हैं जाकिर मामले की जांच
– होम मिनिस्ट्री के ऑफिसर्स के मुताबिक जाकिर नाइक, उसके एनजीओ और सोशल मीडिया में उसकी स्पीच के जांच के लिए 9 टीमें बनाई गई हैं।
– इनमें से 4 टीमें सोशल मीडिया पर उसकी स्पीच को खंगालेंगी। स्पीच की स्कैनिंग की जाएगी।
– एनआईए की 3 टीमें धर्म परिवर्तन कराने, फंडिंग का पॉलिटिकल यूज करने के आरोपों और नाइक की फोन डिटेल की जांच करेंगी।
– जबकि ईडी की दो टीमें नाइक के एनजीओ को विदेश से मिलने वाली फंडिंग और उसके सोर्सेज की जांच करेंगी।
Share With:
Rate This Article